प्रकाशन

प्रकाशन

भारत दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा बांस निर्माता है। कृषि के बाद, बांस एक प्रमुख क्षेत्र है जो विशेष रूप से देश के दूरस्थ, ग्रामीण और पिछड़े क्षेत्रों में आय और रोजगार पैदा करता है। पूर्वोत्तर क्षेत्र के लिए, बांस एक और भी महत्वपूर्ण और महत्वपूर्ण संसाधन है। उत्तर पूर्वी क्षेत्र का बांस स्टॉक देश की बांस संपत्तियों का लगभग 66% है। बांस एकाधिक उपयोगों के साथ एक अद्वितीय और अत्यधिक नवीकरणीय संसाधन है। यह सबसे अच्छी प्राकृतिक इंजीनियरिंग सामग्री है, मिट्टी प्रबंधन के लिए उत्कृष्ट, कार्बन अनुक्रमण में ऊर्जा कुशल और उत्कृष्ट है। यह वृक्षारोपण, कारीगर उपयोग, प्राथमिक प्रसंस्करण और डाउनस्ट्रीम औद्योगिक गतिविधियों से लेकर सभी स्तरों पर ग्रामीण और पिछड़े क्षेत्र में आय और रोजगार में प्रत्यक्ष लाभ प्रदान करता है। 70% से अधिक पारंपरिक आवास एक महत्वपूर्ण संरचनात्मक सामग्री के रूप में बांस का उपयोग करता है।

एनईसीटीए, एनईसीटीएआर का एक घटक, क्षेत्र में तेजी से औद्योगिकीकरण को बढ़ावा देने के लिए बांस क्षेत्र में नई प्रौद्योगिकियों और अनुप्रयोगों के विकास में काफी हद तक लगा हुआ है। बांस समग्र बोर्ड, पूर्व-निर्मित इमारतों और संरचनाओं, बांस फर्नीचर, छड़ी बनाने, चारकोल उत्पादन, गैसीफिकेशन और स्वास्थ्य जैसे उत्पादों जैसे क्षेत्रों में विभिन्न औद्योगिक उपयोगों के लिए बांस के प्रसार और खेती के लिए काम की गुंजाइश बेहतर प्रौद्योगिकियों से लेकर है। और स्वच्छता समाधान, थर्मो-प्लास्टिक कंपोजिट्स, सिरका इत्यादि। इन पहलुओं ने इस क्षेत्र के औद्योगीकरण के लिए मार्ग प्रशस्त किया है और देश के गरीब और पिछड़े क्षेत्रों में बड़ी संख्या में लोगों को रोजगार स्तर प्रदान करने और रोजगार प्रदान करने के लिए जिम्मेदार हैं। ।

उद्यमियों, उपयोगकर्ताओं और संस्थानों के बीच बांस क्षेत्र में प्रौद्योगिकियों और अनुप्रयोगों के बारे में जागरूकता और ज्ञान को बढ़ावा देने के लिए, एनईसीटीएआर ने बांस क्षेत्र से संबंधित कई विषयों पर बड़ी संख्या में मोनोग्राफ, रिपोर्ट, मैनुअल और अन्य मुद्रित सामग्री का दस्तावेज़ीकरण और उत्पादन किया है। इन दस्तावेजों और प्रकाशनों की सूची नीचे दी गई है:

प्रकाशन

कोड

मूल्य

Field Guide :The bamboo book

FG 01 07/11

220

Training Manual: Bamboo shoots processing

TM 02 10/05

100

Training Manual : Propagating Bamboo-Hindi

TM 03 H 12/05

200

Training Manual : Propagating Bamboo-Malayalam

TM 03 M 12/05

150

Training Manual : Propagating Bamboo-Assamese

TM 03 A 12/05

150

Training Manual : Propagating Bamboo-Tamil

TM 03 T 03/08

150

Training Manual : Propagating Bamboo-Telugu

TM 03 T 03/08

150

Training Manual : Propagating Bamboo-Oriya

TM 03 O 03/08

150

Training Manual : Propagating Bamboo-Marathi

TM 03 MA 03/08

150

Training Manual : Propagating Bamboo-Garo

TM 03 11/04

150

Training Manual : Propagating Bamboo-Khasi

TM 03 11/04

150

 Training Manual : Cultivating Bamboo

TM 04 11/04

200

Training Manual : Cultivating Bamboo-Hindi

TM 04 H 12/05

200

Training Manual : Cultivating Bamboo-Malayalam

TM 04 M 12/05

200

Training Manual : Cultivating Bamboo-Assamese

TM 04 A 12/05

200

Training Manual : Cultivating Bamboo-Tamil

TM 04 T 11/07

150

Training Manual : Cultivating Bamboo-Telugu

TM 04 T 03/08

200

Training Manual : Cultivating Bamboo-Oriya

TM 04 O 03/08

200

Training Manual : Cultivating Bamboo-Marathi

TM 04 MA 03/08

200

Training Manual : Cultivating Bamboo-Garo

TM 03 11/04

200

Training Manual : Cultivating Bamboo – Khasi

TM 03 11/04

200

Training Manual : Micro-propagation of bamboo

TM 06 08/06

200

Market Assessment- Flooring

MA 01 02/04

250

Training Manual: Preservation of Bamboo

TM 05 07/06

150

Biology and Silviculture of Muli bamboo

 

500

Market Assessment-Furniture Components

MA 02 02/04

250

Info-sheet : Maturity Marking of Bamboo Culms

 

  10

Info-sheet : Bamboo-based charcoal

 

  10

Info-sheet: Gasification

 

10

Info-sheet : Thorny Perimeter Fencing

 

  10

Info sheet: Vegetative Propagation Centre for Bamboo

 

  20

NID:Cane & bamboo craft of NE India-Paperbound

 

 300

NID: Bamboo Initiatives

 

 175

Venu Bharati (English)

 

 250

Venu Bharati (Hindi)

 

 250

Atlas of Bamboo Devices

 

200

The Bamboo Maiden- Story Book

 

250

Durva’s Bamboo Forest- Story Book

 

250

Bamboo- From Green Designs to Sustainable Design

 

2100

Bamboo Value Addition Study & Sector Development Study